Personality of the month

कोरोना दौर में मानव सेवा की मिसाल बना- एलन

माहेश्वरी समाज अपनी सेवा परम्परा अनुसार वर्तमान में कोरोना महामारी के दौर में भी मानवता की सेवा में योगदान दे रहा है। इसी शृंखला में NEET व JEE जैसी महत्वपूर्ण प्रतियोगी परिक्षाओं की तैयारी करवाने में महत्वपूर्ण स्थान रखने वाली कोटा की संस्था एलन कैरियर इंस्टीट्यूट भी मानवता की सेवा में आगे आई है। इसके अंतर्गत एलन परिवार कोविड प्रभावित जरूरतमंद परिवारों के विद्यार्थियों को मेडिकल व इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिए निःशुल्क कोचिंग देगा। इतना ही नहीं संस्था ने विद्यार्थियों की मदद के लिए 50 लाख रुपए का राहत कोष भी स्थापित किया है।


माहेश्वरी समाज मानवता की सेवा में किस तरह सदैव आगे रहता है, इसकी मिसाल देश के कोने-कोने में मिल जाती है। इसी श्रृंखला में देश के शिक्षा जगत में एक शीर्ष नाम बन चुके, मानधना परिवार द्वारा संचालित ‘एलन’ इंस्टीट्यूट भी हमेशा अपना योगदान देता रहा है।

कोरोना महामारी के इस भयानक दौर में आमजन की मदद के लिए एलन परिवार ने चिकित्सा विभाग के साथ मिलकर एक आदर्श 250 बैडेड कोविड केयर सेंटर कोटा में संचालित किया। इतना ही नहीं, कोरोना महामारी से प्रभावित जरूरतमंद विद्यार्थियों को निःशुल्क शिक्षा देने के साथ ही उनकी मदद के लिये एलन ने 50 लाख रूपये की राशि से एक राहत कोष भी स्थापित किया है।


प्रशासन की मदद में भी आगे आया

कोटा का एलन मानधना परिवार समाज सेवा में सदैव अग्रणी रहा है। विद्यार्थियों का कॅरियर बनाने की बात हो या विपरीत समय में आमजन के साथ खड़े होने की, एलन मानधना परिवार ने सदैव साथ निभाया है। कोविड संक्रमण के भयावह दौर में भी एलन मानधना परिवार ने मानवता की सेवा में नई मिसाल पेश की है।

संस्कार से सेवा तक को चरितार्थ करते हुए परमार्थ में श्रेष्ठ कार्य किया है। कोटा में जब चिकित्सा व्यवस्थाएं चरमराई तो एलन मानधना परिवार आगे आया और जिला प्रशासन व चिकित्सा विभाग के साथ मिलकर 30 अप्रैल से 26 मई तक 250 बैड का देश का आदर्श कोविड केयर सेंटर कोटा यूनिवर्सिटी में संचालित किया गया।

परिवार की माता श्रीमती कृष्णादेवी माहेश्वरी के मार्गदर्शन से परिवार के अग्रज गोविन्द माहेश्वरी व राजेश माहेश्वरी के निर्देशन में अनुज बृजेश माहेश्वरी के साथ नवीन माहेश्वरी ने सामाजिक सरोकारों का यह बीड़ा उठाया हुआ है।


मदद के लिये तन-मन-धन से सहयोग

एलन परिवार द्वारा लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के आह्वान पर कोरोना प्रभावित अभावग्रस्त परिवारों के प्रतिभावान विद्यार्थियों को मेडिकल व इंजीनियरिंग की कोचिंग निःशुल्क देने की घोषणा की गई। इसके लिए 50 लाख रुपए का अतिरिक्त कोष भी स्थापित किया गया। इन विद्यार्थियों के रहने व खाने की व्यवस्था के लिए भी एलन परिवार द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं।

250 बैड के कोविड केयर सेंटर में कोटा ही नहीं वरन हाड़ौती और आस-पास के जिले के लोगों को भी जीवन देने का हर संभव प्रयास किया। इस कोविड केयर सेंटर में संक्रमित मरीजों के बीच 27 दिनों तक एलन स्टूडेंट वेलफेयर सोसायटी के माध्यम से एलन परिवार से जुड़े 70 सदस्यों ने दिन-रात सेवाएं दी। प्रयासों के परिणाम अच्छे रहे और धीरे-धीरे मरीजों की संख्या कम होने लगी।

एलन

अंतिम दिन मरीजों को सभी चिकित्सकों, नर्सिंग स्टाफ और एलन टीम द्वारा तालियां बजाकर विदा किया गया। इसके साथ ही राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के आह्वान पर एलन परिवार द्वारा युवाओं के वैक्सीनेशन के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में 21 लाख रुपए की मदद दी।

एलन परिवार की मदद का सिलसिला आगे भी जारी है। कोटा ही नहीं वरन आस-पास के ग्रामीण क्षेत्रों में भी दवाइयां व चिकित्सा संसाधन उपलब्ध करवाए जा रहे हैं।


सुबह योगा, शाम को आरती

एलन

कोविड केयर सेंटर में मरीजों की स्वस्थता के लिए सकारात्मक ऊर्जा देने के प्रयास किए गए। यहां नियमित रूप से सुबह मरीजों व परिजनों को संगीतमय भजनों के साथ योगा करवाया गया।

शाम को आरती करवाई गई ताकि सकारात्मक ऊर्जा का संचार हो सके। इसके साथ ही मनोरंजन व प्रेरक वचनों के लिए हर वार्ड में एलईडी लगाई गई। मरीजों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना को लेकर हवन भी करवाया गया।


रोगियों को पौष्टिक आहार

एलन के निदेशक नवीन माहेश्वरी की अगुवाई में मरीजों को बेहतर माहौल दिया गया। मरीजों को पौष्टिक व चिकित्सकों की सलाह के अनुरूप दोपहर व रात को भोजन दिया।

मरीज के साथ परिजनों को भी भोजन वितरण किया। सुबह व शाम को चाय के साथ बिस्किट व नमकीन के अलावा दोपहर में फल तथा रात को भोजन के बाद दूध भी वितरित किया गया।


मानवता की सेवा का अवसर

यह एलन परिवार का सौभाग्य है कि मानवता की सेवा का अवसर मिला। कोविड केयर सेंटर संचालित कर विपरीत समय में जीवन बचाने में सहयोग कर सके। इसके साथ ही कोरोना से प्रभावित ऐसे परिवार के बच्चे जो माता-पिता को खो चुके हैं या परिवार में कमाने वाले नहीं रहे, उन्हें भी निशुल्क शिक्षा दी जाएगी। इसके अलावा जहाँ भी, जिस प्रकार की मदद की जरुरत होगी, एलन परिवार सदैव तत्पर रहेगा।

गोविन्द माहेश्वरी, एलन मानधना परिवार, कोटा


Via
Sri Maheshwari Times
Tags

Related Articles

Back to top button
Close