Kuldevi

श्री सांगल माताजी

श्री सांगल माताजी माहेश्वरी समाज के भट्टड़, मालपानी व जावंधिया खाँप की कुलदेवी हैं।

श्री सांगल माताजी का मंदिर राजस्थान के जैसलमेर जिले में भादरिया गाँव में स्थित है। यह मंदिर देश ही नहीं अपितु सम्पूर्ण ऐशिया में अपनें चमत्कारिक प्रभावों से प्रसिद्ध है। अत: माहेश्वरी समाजजनों के साथ ही अन्य जाति के श्रद्धालुओं की भी यहाँ भीड़ लगी रहती है। यह मान्यता है कि यहाँ मांगी हुई मुराद अवश्य ही पूरी होती है।

इस मंदिर की एक और भी विशेषता है। यहाँ एक विशाल अन्डरग्राउण्ड लायब्रेरी है जिसमें लाखों पुस्तकें हैं। इनमें कई दुर्लभ पुस्तकें भी शामिल हैं। इसके अतिरिक्त यहाँ लगभग १५०० गायों की विशाल गौशाला भी है। मंदिर में नियमित पूजा-अर्चना तो होती ही है, नवरात्रि में लगने वाला मेला विशेष आकर्षण होता है।

श्री सांगल माताजी कैसे पहुँचें:

भादरिया गाँव जोधपुर मार्ग पर जैसलमेर से ७५ कि.मी. तथा पोकरन से ४० कि.मी. दूर है। वैसे तो जैसलमेर व पोकरण से बस सुविधा भी उपलब्ध है लेकिन निजी वाहन या टैक्सी से आना जाना ज्यादा सुविधाजनक है।

कहाँँ ठहरें:

ठहरने के लिये भादरिया गाँव में ही श्री सांगल माताजी के मंदिर परिसर के समीप धर्मशाला बनी हुई हैं जिसमें ठहरने की सामान्य सुविधा उपलब्ध है।


Subscribe us on YouTube

Via
Sri Maheshwari Times
Tags

Related Articles

Back to top button
Close